Thank You so much for landing here, and giving your precious time to read my blog.
Your comments will appreciate me more, so feel free to drop your views on my post :)

Search Books

Thursday, 4 October 2012

एक सीख मिलती हे ...

क्या कभी सोचा हे आपने कितना मायने रखता हे आपका ब्लॉग ??
आपके लिए या किसी और के लिए ??
अक्सर होता हे मेरे साथ ऐसा की जब कभी किसी से अगर बात होती भी हे इस बारे में तो या तो लोग अनजान  रहते हे की ब्लॉग जेसी भी कोई दुनिया हे,, या फिर जानते भी हे तो बहुत थोडा।।।


लेकिन कितनी अहेमियत होती हे एक ब्लॉग की,, ये एक ब्लॉग लिखने वाला ही समझ सकता हे//
मेने लोगो के मन में ये भी धरना देखी हे की क्या मिलता हे एक ब्लॉग लिखने से ??
उल्टा और दूसरे लोग तुम्हारी लिखी हुई पंक्तियों को अपना बता कर उनके ब्लॉग पर पोस्ट कर देते हे ... और कितने ही लोगो को ये भी पूछते देखा हे ,, कुछ कमाई होती हे ब्लॉग लिखने से ??
पर मुझे एक बात समझ नहीं आती की क्या हर काम हम मतलब के लिए ही करते हे ??
क्या खुद की ख़ुशी के लिए इन्सान कुछ नहीं कर सकता ??



लेकिन मेरे पास जवाब हे ... बहुत कुछ मिलता हे एक ब्लॉग से चाहे वो अपना हो या किसी और का ...
आप क्या हे और क्या सोचते हे इसे बता सकते हे पूरी दुनिया को ... क्यूंकि हो न हो एक सीख तो ज़रूर मिलती हे ...
क्या पता आपकी किसी पोस्ट से किसी की सोच बदल जाये??
कोई गलत आदत??
या फिर किसी के प्रति बर्ताव??

मेने तो सिखा हे जाने अनजाने ,,बहुत कुछ और खुद में बदलाव भी पाया हे...

मेने तो कभी नहीं सोचा था  घास के बारे में ...जिस पर लोग बिना सोचे समझे ,, न जाने कितनी बार पैर रख कर आगे बढ़ जाते हे।।
और न कभी ये महसूस किया था की हा सच में हमारी जिदंगी इन्टरनेट हो गयी और केसे हम बदल गए/// न खबर कोई रिश्तो की,, न ही नातो की .... 

सुना तो था अक्सर फर्क अमीर-गरीब  के बीच लेकिन जब उन्ही तर्क को फिर पढ़ कर देखा तो आखे भर आई////
कहा चले गए हे आज के युवा ये हमें न कहना पड़ता...जो सिगरेट! अगर तू न होती तो आज ज़िन्दगी कुछ और होती।।।
कितनी बदल गयी हे ये दुनिया की अब मेरे मन के  विचारों का समुद्र कुछ शांत सा है .....   
कुछ समझ नहीं पाती हु बस ज़हन में आ जाते हे अक्सर कुछ सवाल जिनका जवाब अक्सर नहीं होता मेरे पास ///

तो क्या कहू उन लोगो को जो कभी नहीं समझ सकते हे ... क्यूंकि एक सिख ही बहुत होती हे जीवन सुधार लेने को ....

~नूपुर ~

Links copied by जो मेरा मन कहे  
A special thanks to यशवंत माथुर 

23 comments:

  1. बहुत अच्छा लगा खुद को यहाँ पा कर ।
    नूपुर जी!आप अच्छा लिखती रहें आगे बढ़ती रहें।
    हमारी शुभ कामनाएँ आपके साथ हैं।

    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. You deserve it...with a hats off every time :)
      Nd thanks for the blessings :)

      Delete
  2. बहुत सुन्दर नूपुर......
    यशवंत की रचनाये हैं ही बेहतरीन....तुम्हारी प्रस्तुति भी काबिले तारीफ़,,,
    बहुत खूब.

    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
    Replies
    1. I completely agree :)
      Yashwant ji deserve this...
      and thanks for complementing me :)

      Delete
  3. विचार और प्रस्तुतीकरण उत्तम हैं।

    ReplyDelete
  4. अच्छा लिखा है नूपुर, सच ब्लॉग लिखने वाला ही समझ पता है क्या मिलता है लिखने से. कभी कभी मन के विचार शब्दों में ढाल पाना भी एक उपलब्धि होती है जो आत्मविश्वास बढा देती है. सीख तो बहुत मिलती ही है.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Khushi hui yeh sunkar ki aap bhi sehmat he mujhse :)
      Welcome on my blog! :)

      Delete
  5. Well I started blogging as one of my friends pushed me into it I use to write a diary first. Blogging is a different way of looking things I enjoy it a lot and have made some very good friends over the blogosphere , recently I had a problem and that too in a different country and so many bloggers came out for help people I have only interacted with on blogs.

    What you have written is so true we learn too from blogging reading other people thoughts sharing our thoughts

    So all in all it is a wonderful world of blogging..

    ReplyDelete
    Replies
    1. Happy to hear that u are out with the problem, mine was also the same case... i too started blogging coz of a friend :)
      Thanks for sharing ur experience here...
      Keep blogging!!

      Delete
  6. The world of blogs is unique to learn so much from each other:)

    ReplyDelete
  7. आपके बातों से सहमत हूँ
    हम अपने लिए ,अपनी ख़ुशी के लिए ब्लॉग लिखते है,हर वक्त कुछ पा लेना
    जरुरी नहीं...
    सुन्दर विचार....
    :-)

    ReplyDelete
    Replies
    1. Happy that there are many agreeing with me :)

      Delete
  8. I love blogging :) blogging your heart out is really what I love and I do ! nice post...
    hope you'll visit my blog and find it worth following :)
    http://garimazlifeblog.blogspot.in/

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks garima...and surely I've visited it many times....

      Delete
  9. Manyawar apne kis subjct k lye blog likha hai. . . . .??pc solution,
    hack pc via usb
    @ khotej.blogspot.in

    ReplyDelete